वर्ष 2000 में एक लाख रुपये से शुरू किया कारोबार, अब 160 करोड़ की टर्नओवर

    0
    2860
    वर्ष 2000 में एक लाख रुपये से शुरू किया कारोबार, अब 160 करोड़ की टर्नओवर
    वर्ष 2000 में एक लाख रुपये से शुरू किया कारोबार, अब 160 करोड़ की टर्नओवर

    लुधियाना | जीवन में अगर आप सच्चाई और मेहनत का दामन थामते हैं तो आपको आगे बढ़ने से कोई भी नहीं रोक सकता। बस आपमें आगे बढ़ने का जज्बा होना चाहिए, कड़ी मुश्किलों के बावजूद आपको जीवन में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। करिअर की शुरुआत एक लाख रुपये की राशि से की। जीवन के अनुभवों ने काफी कुछ सिखाया और आज कंपनी की टर्नओवर 160 करोड़ से ज्यादा की है। यह कहना है श्री बाला जी प्रॉसेसर के एमडी सतिंदर कुमार के बेटे और कंपनी के पार्टनर विवेक बॉबी जिंदल का। खुद के व्यापार से ही की शुरुआत बीसीएम स्कूल शास्त्री नगर से शिक्षा ग्रहण करने के बाद विवेक बॉबी जिंदल ने आर्य कॉलेज लड़कों से बीकॉम की स्टडी की।

    इसके पश्चात पहले तो अपने पिता के व्यवसाय वूलेन बिजनेस में सहयोग प्रदान किया। इसके पश्चात पेंट का कारोबार शुरू किया। बिजली की शॉप की और फिर कॉपर वायर की फैक्टरी लगाई, लेकिन वर्ष 2000 में स्वयं का डाइंग प्रॉसेसिंग यूनिट लगाया और इसमें मेहनत कर आगे बढ़े। अपने व्यापार को आरंभ करने के लिए पिता से 16 साल पहले एक लाख रुपए लिए थे। इसके पश्चात खुद की मेहनत और पिता के आशीर्वाद से जीवन में आगे बढ़ते रहे। एक लाख से ट्रेडिंग का कार्य आरंभ किया, इसमें मुनाफा बढ़ते-बढ़ते पैसे को व्यापार में लगाया और बैंक के सहयोग से खुद का यूनिट स्थापित किया और आज कंपनी की टर्नओवर 160 करोड़ रुपये है।

    पिता से पढ़ा ईमानदारी और मेहनत का पाठ
    पिता सतिंदर कुमार ने जीवन में तरक्की के लिए सदा ईमानदारी और मेहनत का पाठ पढ़ाया है। पिता ने सदा यह सिखाया कि अपने ग्राहकों के साथ सदा परिवार जैसे संबंध रखें। व्यापार के दौरान उनकी समस्याओं को सुनें और प्लांट में आने वाले किसी समस्या के लिए घबराएं नहीं और इसका सामना कर इससे सीखने का प्रयास करें। इसके साथ ही अपने कर्मचारियों को भी परिवार का हिस्सा मानकर उनके हितों को भी ध्यान में रखकर काम करें।